इजराइल के पीएम नेतन्याहू ने परमाणु ‘उल्लंघनों’ को लेकर ईरान पर प्रतिबंध लगाने की मांग की

इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने रविवार को वैश्विक शक्तियों से ईरान के खिलाफ फिर से सख्त प्रतिबंध लगाने का आग्रह किया. यह प्रतिक्रिया सीरिया में ईरान समर्थक लड़ाकों के घातक हमले के चंद घंटों बाद आई है जो कि तेहरान की क्षेत्रीय “आक्रामकता” पर अंकुश लगाने की कवायद है. नेतन्याहू ने अपनी कैबिनेट को बताया कि “इंटरनेशनल एटॉमिक इनर्जी एजेंसी ने पाया है कि ईरान ने गुप्त जगहों पर एजेंसी के इंस्पेक्टरों को गुप्त परमाणु सैन्य गतिविधियों तक पहुंच देने से इनकार कर दिया.”

संयुक्त राष्ट्र के न्यूक्लियर वाचडॉग ने शुक्रवार को कहा कि ईरान ने यूरेनियम का भंडार 2015 में तय सीमा से लगभग आठ गुना बढ़ा लिया है. उसने महीनों तक उन जगहों पर इंस्पेक्शनों को रोका है जहां परमाणु गतिविधियां हो सकती हैं.

नेतन्याहू ने ईरान पर आरोप लगाया कि वह “साइटों को छिपाकर, अलग-अलग सामग्री एकत्रित करके और अन्य तरीकों से अपनी प्रतिबद्धताओं का उल्लंघन कर रहा है.” उन्होंने कहा कि “इन जानकारियों के मद्देनजर ईरान पर फिर से कड़े प्रतिबंधों के लिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय को अमेरिका के साथ आना चाहिए.

हिन्दमान भारत वर्ष की प्रमुख समाचार माध्यम है। जो हिन्दी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में उपलब्ध है।
toggle