दुनिया में भारत का दबदबा बढ़ा, इस वजह से बौखलाया हुआ है चीन

आज जब भारत अपनी सेनाओं के साथ चीन के विरोध में मजबूती से खड़ा है, कांग्रेस के नेता इन भारतीय सेनानियों के बलिदान को विफल साबित करने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। यह वही कांग्रेस है जिसके शासन में भारत के 43,000 वर्ग किमी (रणनीतिक) भू-भाग को चीन को तोहफे में दे दिया गया।

जहां चीन, लद्दाख के कुछ हिस्से में अपने दावे को मजबूत करने के लिए हर मौसम में परिवहन के लिए सड़कों और पुलों का निर्माण कर रहा था, वहीं कांग्रेस नेतृत्व मूकदर्शक बना रहा। सीमांत क्षेत्र में मिशन मोड में सड़कों को विकसित करने के बजाय उन्होंने सीमाओं को परिभाषित ना कर चीनी रणनीति का ही साथ दिया। परिभाषित सीमा के अभाव में चीन भारत की सीमाओं का बार-बार उल्लंघन करता रहा है।